पिछले सात सीजन में इस लीग में कई टॉप डिफेंडर्स खेलते हुए नजर आए हैं।

2014 में अपनी शुरुआत के साथ ही प्रो-कबड्डी लीग ने भारत के सबसे मशहूर घरेलू खेल को और ज्यादा मशहूर बनाने का काम किया है। इस लीग को शुरु करने का उद्देश्य खिलाड़ियों को अच्छा प्लेटफॉर्म देने का था जिसमें वह पूरी तरह सफल भी रही है। दर्शकों के मामले में आज यह लीग इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के बाद दूसरी ज्यादा फॉलो की जाने वाली इंडियन लीग है। पिछले सात सीजन में इस लीग में कई देशी और विदेशी खिलाड़ी अपना जलवा बिखेर चुके हैं।

आईए एक नजर डालते हैं प्रो-कबड्डी लीग इतिहास के पांच बेस्ट डिफेंडर्स पर:

5. सुरजीत सिंह- 278 प्वाइंट्स

सिंह इस समय पुनेरी पलटन के लिए खेल रहे हैं। भले ही पिछला सीजन पुनेरी पलटन के लिए बेहद निराशाजनक रहा था, लेकिन सुरजीत ने 63 टैकल प्वॉइंट्स हासिल किए थे। सुरजीत ने प्रो-कबड्डी लीग में अपना करियर 2016 में पुनेरी पलटन के साथ शुरु किया और फिर यू मुंबा और बंगाल वारियर्स जैसी टीमों के लिए भी खेले।

पिछले सीजन पुणे स्थित टीम से जुड़ने से पहले तक वह बंगाल की टीम के कप्तान थे। राइट कवर के तौर पर खेलने वाले सुरजीत ने पांच सीजन में 278 टैकल प्वॉइंट्स हासिल किए हैं।

4. संदीप नरवाल- 310 प्वाइंट्स

ऑल-राउंडर संदीप नरवाल लीग इतिहास में सबसे बेहतरीन खिलाड़ियों में से एक हैं। लीग में रेड और डिफेंस मिलाकर 500 या उससे ज्यादा प्वॉइंट्स हासिल करने वाले तीन ऑलराउंडर्स में से संदीप भी एक हैं। 2014 में लीग के पहले सीजन में संदीप पटना पाइरेट्स का हिस्सा रहे थे।

तेलुगु टाइटंस और पुनेरी पलटन के लिए खेल चुके अनुभवी संदीप फिलहाल यू मुंबा के लिए खेल रहे हैं। कॉर्नर डिफेंडर के तौर पर खेलने वाले संदीप बॉडी ब्लॉक मूव में माहिर हैं जिससे रेडर का मूवमेंट तोड़ा जा सकता है।

3.फजल अत्राचली- 317 प्वाइंट्स

प्रो-कबड्डी लीग इतिहास के सबसे बेहतरीन डिफेंडर्स में से एक ईरानी डिफेंडर फजल अत्राचली ने सीजन चार और सीजन सात में सबसे ज्यादा टैकल प्वाइंट्स हासिल किए थे। इसके अलावा वह लीग में 300 से ज्यादा टैकल प्वाइंट्स हासिल करने वाले पहले विदेशी खिलाड़ी हैं।

लीग के दूसरे सीजन में यू मुंबा के लिए धमाकेदार डेब्यू करने वाले अत्राचली एक बार फिर उसी टीम में लौट आए हैं। लेफ्ट-कॉर्नर पर खेलने वाले अत्राचली अपने लीग करियर में पटना पाइरेट्स और गुजरात फॉर्च्यूनजॉयंट्स के लिए भी खेल चुके हैं।

2. रविंदर पहल- 326 प्वाइंट्स

रविंदर पहल फिलहाल दबंग दिल्ली के लिए खेल रहे हैं और फजल अत्राचली की तरह उन्होंने भी सेम साइड के साथ प्रो-कबड्डी लीग में अपना डेब्यू किया था। सातवें सीजन में उन्होंने बेहतरीन प्रदर्शन किया और दिल्ली पहली बार फाइनल तक पहुंच पाई। 326 प्वाइंट्स के साथ रविंदर लीग के इतिहास के दूसरे सबसे ज्यादा सफल डिफेंडर हैं। अपने करियर की शुरुआत में वह पुनेरी पलटन और बेंगलुरु बुल्स के लिए भी खेल चुके हैं।

1. मंजीत छिल्लर- 337 प्वाइंट्स

मंजीत लीग में सबसे ज्यादा टैकल प्वाइंट्स हासिल करने वाले डिफेंडर हैं।

अब तक 337 टैकल प्वाइंट्स हासिल कर चुके सीनियर प्लेयर मंजीत छिल्लर प्रो-कबड्डी लीग में सबसे ज्यादा टैकल प्वाइंट्स हासिल करने वाले डिफेंडर हैं।फजल अत्राचली के साथ मंजीत इकलौते खिलाड़ी हैं जिन्होंने दो बार ‘बेस्ट डिफेंडर ऑफ द सीजन’ का अवार्ड जीता है। वह लीग में 500 से ज्यादा प्वाइंट्स हासिल करने वाले दूसरे ऑलराउंडर भी हैं।

टीम की जरूरत के हिसाब से मंजीत मैट पर कहीं भी खेल सकते हैं। फिलहाल, तमिल थलाइवाज के लिए खेल रहे मंजीत इससे पहले बेंगलुरु बुल्स, पुनेरी पलटन और जयपुर पिंक पैंथर्स के लिए भी खेल चुके हैं, लेकिन अब तक वह खिताब नहीं जीत सके हैं।