लियोनल मेसी की टीम अर्जेंटीना को अगले साल होने वाले कोपा अमेरिका टूर्नामेंट के लिए ग्रुप-ए में शामिल किया गया है। ग्रुप स्टेज में अर्जेंटीना को सबसे कड़ी टक्कर उरुग्वे और चिली से मिलने की उम्मीद है क्योंकि साउथ अमेरिका रीजन की सबसे मजबूत टीम और डिफेंडिंग चैम्पियन ब्राजील को ग्रुप-बी में जगह दी गई है।

टूर्नामेंट के लिए ड्रॉ की घोषणा बुधवार को की गई। इस बार टूर्नामेंट में ऑस्ट्रेलिया की टीम भी हिस्सा लेगी। ऑस्ट्रेलिया को जापान की जगह प्रतियोगिता में शामिल किया गया है।

एशियन चैम्पियन कतर भी कोपा अमेरिका में खेलगा, उसने इस साल भी प्रतियोगिता में हिस्सा लिया था जहां उसने ग्रुप स्टेज में पैराग्वे के खिलाफ रोमांचक ड्रॉ खेला था। टूर्नामेंट की मेजबानी अर्जेंटीना और कोलंबिया द्वारा संयुक्त रूप से की जाएगी।

ग्रुप-ए में ऑस्ट्रेलिया, बोलीविया और पैराग्वे को भी रखा गया है। अर्जेंटीना को अपना पहला मैच 12 जून को ब्यूनस आयर्स में चिली के खिलाफ खेलना है।

ब्राजील को ग्रुप-बी में मेजबान कोलंबिया से संभल कर रहने की जरूरत है। इसके अलावा, ग्रुप में कतर, वेनेजुएला, इक्वाडोर और पेरू को शामिल किया गया है।

टूर्नामेंट में कुल 38 मैच खेले जाएंगे। ग्रुप स्टेज के बाद आठ टीमें क्वॉर्टरफाइनल में जाएंगी और प्रतियोगिता का फाइनल 12 जुलाई को कोलंबिया में खेला जाएगा।

ब्राजील ने पिछली बार पेरू को 3-1 से हराकर खिताब जीता था। मेसी ने अभी तक अपने करियर में एक भी इंटरनेशनल ट्रॉफी नहीं जीती है, ऐसे में उनके पास अगले साल इस प्रतियोगिता का​ खिताब जीतने का बेहतरीन मौका होगा।

इस साल कोपा अमेरिका टूर्नामेंट के सेमीफाइनल में अर्जेंटीना को ब्राजील के खिलाफ 2-0 से हार झेलनी पड़ी थी। हालांकि, थर्ड पोजिशन के लिए हुए मैच में मेसी की टीम ने चिली को 2-1 से मात दी थी।

कोपा अमेरिका का खिताब सबसे ज्यादा बार उरुग्वे ने जीता है। उरुग्वे ने 15 बार यह टाइटल जीता है जबकि अर्जेंटीना इस मामले में दूसरे नंबर पर है। अर्जेंटीना ने 14 बार खिताब अपने नाम किया है।

ग्रुप—ए : अर्जेंटीना, ऑस्ट्रेलिया, बोलीविया, उरुग्वे, चिली और पैराग्वे
ग्रुप—बी : ब्राजील, कोलंबिया, कतर, वेनेजुएला, इक्वाडोर और पेरू।