स्टार रेडर ने अपने वर्तमान कोच की काफी तारीफ की।

सचिन तंवर इस प्रो कबड्डी लीग (पीकेएल) सीजन में जबरदस्त प्रदर्शन कर रहे हैं। पटना पाइरेट्स के लिए पीकेएल के 8वें सीजन में उनका परफॉर्मेंस काफी शानदार रहा है। वो ना केवल टीम बल्कि पूरे टूर्नामेंट में एक स्टार रेडर बनकर उभरे हैं। सचिन तंवर ने अपने परफॉर्मेंस से दिखाया है कि उनके अंदर कितना दमखम है। कोई भी टीम उन्हें हल्के में लेने की कोशिश ना करे।

उन्होंने इस प्रो कबड्डी लीग सीजन पटना पाइरेट्स के लिए 100 से ज्यादा प्वॉइंट हासिल कर लिए हैं। इस खिलाड़ी ने कई मैचों में टीम को शानदार जीत दिलाई है। खेल नाओ से एक्सक्लूसिव बातचीत में उन्होंने कई चीजों के बारे में खुलासा किया। सचिन तंवर ने बताया कि वो बीच कबड्डी और सर्कल कबड्डी भी खेल चुके हैं। इसके अलावा उन्होंने कबड्डी खेलने वाली लड़कियों को भी सपोर्ट करने की बात कही। उन्होंने कहा कि कबड्डी के जरिए कई सरकारी नौकरी भी आप पा सकते हैं इसलिए लड़कियों को भी उतना ही सपोर्ट कीजिए।

पटना पाइरेट्स ने जब अपने पीकेएल सीजन 8 की शुरूआत की थी तो उनके सबसे मेन रेडर मोनू गोयत थे। हालांकि जैसे-जैसे सीजन आगे बढ़ता गया मोनू गोयत को मौके मिलने कम हो गए। अभी तक उन्हें सिर्फ 13 मैचों में ही खेलने का मौका मिला है जिसमें उन्होंने 60 ही प्वॉइंट हासिल किए हैं। मोनू गोयत से ज्यादा सचिन तंवर को मौके मिले।

इसको लेकर सचिन तंवर ने कहा, “जो प्लेयर अच्छा खेलता है कोच सर उसे लगातार मौका देते हैं। जैसे गुमान सिंह अच्छा कर रहे हैं तो उन्हें खिलाया जा रहा है। फॉर्म को देखकर प्लेयर्स को मौका मिलता है।”

टीम के डिफेंस ने दिलाया भरोसा

पटना पारइटे्स ने इस पीकेएल सीजन डिफेंस में काफी दमदार परफॉर्मेंस दिया है। उनके पास चार ऐसे दिग्गज डिफेंडर हैं जिन्होंने रेडर्स की नाक में दम कर दिया। टीम की सफलता के पीछे इन डिफेंडर्स का काफी बड़ा योगदान है। सचिन तंवर के मुताबिक टीम के बेहतरीन डिफेंस की वजह से रेडर्स को काफी कॉन्फिडेंस मिलता है। डिफेंडर्स उन्हें काफी भरोसा दिलाते हैं।

उन्होंने कहा, “डिफेंस में हमारे चारों साइड काफी बेहतरीन हैं। मोहम्मदरेजा, नीरज कुमार, सुनील और साजिन चारों ही डिफेंडर अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं। डिफेंडर्स हमसे खुलकर रेडिंग के लिए कहते हैं। उनका कहना है कि आप खुलकर रेडिंग कीजिए हम आपको रिवाइव करवा लेंगे।”

मनप्रीत सिंह और राम मेहर सिंह की कोचिंग में अंतर

पीकेएल के सातवें सीजन में सचिन तंवर गुजरात जायंट्स की टीम का हिस्सा थे। उस टीम के कोच मनप्रीत सिंह थे। वहीं अब पटना में उन्हें राम मेहर सिंह की कोचिंग में खेलने का मौका मिल रहा है। सचिन तंवर ने बताया कि मनप्रीत सिंह और राम मेहर सिंह की कोचिंग में क्या बड़ा अंतर है। उन्होंने बताया कि किसकी कोचिंग में उन्हें ज्यादा अच्छा लगा।

उन्होंने कहा, “राम मेहर सिंह की कोचिंग मुझे काफी ज्यादा अच्छी लगी है। उन्होंने मेरी हर एक कमी पर काम किया और उसे दूर किया। मुझे उनकी कोचिंग में काफी मजा आया। दोनों कोच अलग हैं तो इसलिए उनका स्टाइल भी अलग है लेकिन राम मेहर सिंह की कोचिंग मुझे ज्यादा अच्छी लगी।”

कोरोना के बाद वापसी का अनुभव

कोरोना महामारी की वजह से प्रो कबड्डी लीग लगातार दो साल तक नहीं हो पाया। इससे ना केवल कबड्डी फैंस बल्कि खिलाड़ियों पर भी काफी ज्यादा असर पड़ा। सचिन तंवर ने बताया कि पीकेएल की वापसी के बाद उन्हें काफी खुशी हुई।

उन्होंने कहा, “कोरोना महामारी की वजह से दो साल तक हम प्रो कबड्डी लीग से दूर रहे। इसके बाद मैट पर वापसी करके काफी अच्छा लगा। प्रो कबड्डी के वापस आने से हमें काफी ज्यादा खुशी मिली है।”