कोच ने टीम के जबरदस्त परफॉर्मेंस को लेकर भी प्रतिक्रिया दी।

प्रो कबड्डी लीग (पीकेएल) के 8वें सीजन में पटना पाइरेट्स की टीम जबरदस्त प्रदर्शन कर रही है। इस सीजन टीम में स्टार रेडर परदीप नरवाल नहीं है लेकिन इसके बावजूद पटना का परफॉर्मेंस काफी जबरदस्त रहा है। इस सीजन प्लेऑफ के लिए क्वालीफाई करने वाली पटना पहली टीम बनी। सचिन तंवर से लेकर मोहम्मदरेजा तक सबने अपना-अपना बेहतरीन योगदान दिया है।

पटना पाइरेट्स के कोच राम मेहर सिंह टीम के इस प्रदर्शन से बेहद खुश हैं। उन्होंने खेल नाओ से एक्सक्लूसिव बातचीत में कई मुद्दों को लेकर अपनी बेबाक राय दी।

पीकेएल सीजन 8 की शुरुआत से पहले किसी ने सोचा भी नहीं होगा कि पटना पाइरेट्स की टीम इतना जबरदस्त प्रदर्शन करेगी। हालांकि सबको हैरान करते हुए पटना ने प्लेऑफ के लिए सबसे पहले क्वालीफाई किया। कोच राम मेहर सिंह के मुताबिक टीम की तैयारी काफी शानदार थी।

उन्होंने कहा, “मैनेजमेंट और फैंस हर बार उसी तरह के पटना पाइरेट्स को देखना चाहते हैं। हालांकि ऐसा संभव नहीं हैं, क्योंकि सभी 12 टीमें पूरी तैयारी से आती हैं और सब जीतना चाहते हैं। तीन बार हमने इतिहास रचा है जो काफी बड़ी होती है। हमने कैंप के दौरान काफी तैयारी की थी। गुमान सिंह ने कैंप के दौरान बेहतरीन प्रदर्शन किया था।”

“हमने काफी अच्छी तरह से प्लेयर्स को रोटेट किया है। खिलाड़ियों की स्ट्रेंथ और स्पीड पर हम काफी काम करते हैं और ये सुनिश्चित करते हैं कि खिलाड़ी पूरी तरह से फिट हो ताकि उसे इंजरी ना हो। यही सब टीम की सफलता का राज है।”

परदीप नरवाल को हमने स्टार बनाया

पीकेएल में स्टार रेडर परदीप नरवाल और पटना पाइरेट्स एक दूसरे की पहचान थे। हालांकि इस सीजन से दोनों की राहें जुदा हो गईं। परदीप नरवाल पटना से यूपी में चले गए। कोच राम मेहर सिंह का कहना है कि उन्हें परदीप नरवाल की कमी महसूस नहीं हो रही है लेकिन उनका जुड़ाव उनके साथ जरूर है।

उन्होंने कहा, “हमें परदीप नरवाल की कमी बिल्कुल महसूस नहीं हो रही है। हालांकि एक कोच के तौर पर मेरा जुड़ाव आज भी उनके साथ है। परदीप नरवाल को पता है कि मेरा उनको इस लेवल पर पहुंचाने में क्या योगदान है। भले ही कोई आज आकर क्रेडिट ले लेकिन सबको पता है कि मैंने परदीप के लिए क्या किया है और उसे किस मुकाम पर पहुंचाया है।”

राम मेहर सिंह ने आगे कहा, “कोच, मैनेजमेंट और टीम ही किसी प्लेयर को स्टार बनाती है। परदीप नरवाल को पहले कोई नहीं जानता था। इसके अलावा रोहित कुमार, मोनू गोयत और संदीप नरवाल जैसे स्टार खिलाड़ी पटना की ही देन हैं। कोई खिलाड़ी घर से स्टार बनकर नहीं आता, उसे टीमें और कोच स्टार बनाती हैं। सबसे ज्यादा स्टार प्लेयर पटना पाइरेट्स ने दिए हैं।

परदीप नरवाल ने भले ही दूसरी टीम का दामन थाम लिया हो लेकिन उनका परफॉर्मेंस इस सीजन उतना अच्छा नहीं रहा। ऐसे में ये भी कयास लगाए गए कि क्या पटना पाइरेट्स का साथ छोड़ने की वजह से परदीप नरवाल के परफॉर्मेंस पर असर पड़ा है। वहीं राम मेहर सिंह ने इस बारे में बोलने से इंकार कर दिया।

उन्होंने कहा, “ये चीज अगर मुझे पता हो तब भी मैं शायद नहीं बताऊंगा। कुछ चीजें सार्वजनिक तौर पर नहीं बोली जाती हैं। अगर मैं उनकी वीकनेस के बारे में बताऊं तो ये गलत है। इसलिए मुझे नहीं लगता है कि इस बारे में बोलना चाहिए।”

पटना पाइरेट्स के टाइगर हैं मोहम्मदरेजा

पटना पाइरेट्स ने इस सीजन एक ऐसे प्लेयर को ढूंढ निकाला जिसने पीकेएल 8 में अपने दमदार प्रदर्शन से तहलका मचा दिया है। ईरान के ऑलराउंडर मोहम्मदरेजा ने जबरदस्त प्रदर्शन करते हुए अपनी एक अलग छाप छोड़ी है। वो इस सीजन दूसरे सबसे ज्यादा टैकल करने वाले प्लेयर हैं। कोच राम मेहर सिंह ने बताया कि कैसे उन्होंने मोहम्मदरेजा को खोज निकाला था।

उन्होंने कहा, “मोहम्मदरेजा को हमने ईरान के नेशनल्स गेम्स को देखकर खरीदा था। हमने उनके वीडियोज देखे थे और 2-3 महीने की मेहनत के बाद अब वो काफी जबरदस्त खेल दिखा रहे हैं। वो बिल्कुल शेर की तरह झपट्टा मारते हैं। मोहम्मदरेजा पटना पाइरेट्स के टाइगर हैं।”

पटना के अलावा सबसे खतरनाक टीम

कोच राम मेहर सिंह ने पीकेएल 8 में सभी टीमों को बराबर खतरनाक बताया है। उनके मुताबिक सभी टीमें बराबरी की हैं और कोई भी टीम किसी से कम नहीं है। अपने दिन पर कोई भी मैच जीत सकता है।

उन्होंने कहा, “सभी 12 की 12 टीमें खतरनाक हैं, भले ही कोई टीम आखिरी पायदान पर क्यों ना हो। सबने एक दूसरे को कांटे की टक्कर दी है। कोई भी टीम एकदम खराब नहीं है। बस टीम कॉम्बिनेशन और परफॉर्मेंस का फर्क होता है। कोई भी किसी को भी हरा सकता है।”