तीसरे दिन भी कई धमाकेदार मुकाबले होंगे।

प्रो कबड्डी लीग (पीकेएल) सीजन 8 के पहले दो दिन में ही जो रोमांच देखने को मिला है उससे ये साफ हो गया है कि ये सीजन एक नया इतिहास रचने वाला है। कई टीमों को अप्रत्याशित हार का सामना करना पड़ा तो वहीं कई दिग्गज भी फ्लॉप रहे।

लीग के तीसरे दिन भी एक बार फिर तीन मुकाबले खेले जाएंगे। पहला मैच फजल अत्राचली की अगुवाई वाली यू-मुम्बा और नवीन ‘एक्सप्रेस’ की दबंग दिल्ली के बीच होगा। दूसरा मैच रात 8:30 बजे से तमिल थलाइवाज और बेंगलुरू बुल्स के बीच होगा। तीसरा और आखिरी मैच बंगाल वॉरियर्स और तमिल थलाइवाज के बीच होगा।

हम यहां पर करते हैं सभी मुकाबलों का एनालिसिस और प्लेइंग सेवन के बारे में भी आपको बताते हैं।

यू-मुम्बा Vs दबंग दिल्ली

यू-मुम्बा की टीम शानदार तरीके से प्रो कबड्डी लीग सीजन 8 का अपना पहला मुकाबला जीत चुकी है। पहले मैच में युवा रेडर अभिषेक सिंह ने अपना जलवा दिखाया तो डिफेंस ने भी उनका पूरा साथ दिया। हरेंद्र कुमार ने जिस तरह का परफॉर्मेंस डिफेंस में किया उससे यू-मुम्बा को काफी कॉन्फिडेंस मिला होगा। जबकि अभिषेक सिंह ने पहले ही मुकाबले में 19 रेड प्वॉइंट हासिल कर धमाकेदार आगाज किया है। वी अजीत कुमार ने उनको अच्छा सपोर्ट दिया है। यू-मुम्बा के डिफेंस और अटैक दोनों का परफॉर्मेंस पहले मुकाबले में काफी शानदार रहा और वो दूसरे मैच में भी उसी कॉम्बिनेशन के साथ उतरना चाहेंगे। हालांकि दबंग दिल्ली का डिफेंस काफी अच्छा है और वो यू-मुम्बा के अनुभवहीन रेडर्स पर दबाव डाल सकते हैं।

वहीं दूसरी तरफ दबंग दिल्ली की अगर बात करें तो प्रो कबड्डी लीग सीजन 8 के अपने पहले मैच में उनकी टीम एकजुट होकर खेली। नवीन ‘एक्सप्रेस’ ने पहले ही मैच में रफ्तार पकड़ ली और अजय ठाकुर प्लेइंग सेवन में होने के बावजूद एक भी रेड करने नहीं आए। मंजीत और जीवा सबका परफॉर्मेंस काफी अच्छा रहा। संदीप नरवाल ने भी अपना अहम योगदान दिया। नवीन कुमार एक बार फिर उसी तरह का परफॉर्मेंस दोहराना चाहेंगे लेकिन उनके सामने इस बार यू-मुम्बा का मजबूत डिफेंस होगा। ‘सुल्तान’ फजल अत्राचली जरूर नवीन की रफ्तार को रोकना चाहेंगे। कुल मिलाकर हम ये कह सकते हैं कि ये यू-मुम्बा के डिफेंस और दबंग दिल्ली के रेडर्स के बीच का मुकाबला होगा।

दोनों टीमों की संभावित स्टार्टिंग 7

यू-मुम्बा – अभिषेक सिंह, आशीष सांगवान, हरेंद्र कुमार, वी अजीत, मोहसिन मोगसोदुलू, रिंकू और कप्तान फजल अत्राचली (कप्तान)।

दबंग दिल्ली – नवीन कुमार, अजय ठाकुर, विजय, जोगिंदर नरवाल (कप्तान), मंजीत छिल्लर, जीवा कुमार और संदीप नरवाल।

तमिल थलाइवाज Vs बेंगलुरू बुल्स

प्रो कबड्डी लीग सीजन 8 के तीसरे दिन का दूसरा मुकाबला तमिल थलाइवाज और बेंगलुरू बुल्स के बीच खेला जाएगा। तमिल थलाइवाज ने तेलुगु टाइटंस के खिलाफ पहले मुकाबले में अच्छा प्रदर्शन किया था, हालांकि वो मुकाबला रोमांचक तरीके से टाई रहा। जबकि बेंगलुरू बुल्स को अपने पहले मुकाबले में करारी शिकस्त झेलनी पड़ी थी।

पवन सेहरावत पर सबकी नजरें होंगी।

तमिल थलाइवाज के लिए पहले मुकाबले में उनके युवा रेडर मंजीत ने काफी अच्छा खेल दिखाया और दूसरे मैच में भी उनसे उसी तरह के परफॉर्मेंस की उम्मीद रहेगी। हालांकि के प्रपंजन का फॉर्म उतना अच्छा नहीं रहा था और वो इसमें सुधार करना चाहेंगे। वहीं डिफेंस में भी सुरजीत सिंह और साहिल सिंह ने बेहतरीन योगदान दिया था। यही वजह है कि टीम के प्लेइंग सेवन में बदलाव की उम्मीद काफी कम ही है। तमिल थलाइवाज चाहेगी कि वो अपने डिफेंस को और मजबूत करें ताकि ऑल आउट होने से बचा जा सके। पहले मैच में यही उनकी कमजोर कड़ी थी जिसकी वजह से वो मुकाबला नहीं जीत सके थे।

बेंगलुरू बुल्स के लिए दो चीजें पहले मैच में अच्छी नहीं रहीं। पवन सेहरावत का फॉर्म और उनका डिफेंस। पवन सेहरावत ने सुपर 10 जरूर लगाया लेकिन वो कई बार डिफेंडर्स का शिकार भी बने। वहीं बेंगलुरू बुल्स का डिफेंस पूरी तरह फ्लॉप रहा। डिफेंडर्स के बीच तालमेल की कमी दिखी। जीबी मोरे, महेंद्र सिंह और सौरभ नांदल कुछ खास नहीं कर पाए थे और यही वजह कि टीम कई बार ऑल आउट हुई। दूसरे मुकाबले में टीम को दोनों कॉर्नर्स और कवर्स के बीच एक बेहतरीन तालमेल बिठाना होगा और तभी वो रेडर्स का शिकार कर सकते हैं।

दोनों टीमों की संभावित स्टार्टिंग 7

तमिल थलाइवाज – के प्रपंजन, सुरजीत सिंह (कप्तान), मोहित, मंजीत, भवानी राजपूत, सागर और साहिल सिंह।

बेंगलुरू बुल्स – पवन सेहरावत (कप्तान), मयूर जगन्नाथ, महेंद्र सिंह, जीबी मोरे, चंद्रन रंजीत, सौरभ नांदल और अमन।

बंगाल वॉरियर्स Vs गुजरात जायंट्स

तीसरा मुकाबला पिछले सीजन की चैंपियन बंगाल वॉरियर्स और गुजरात जायंट्स के बीच होगा। दोनों ही टीमें अपना-अपना पहला मुकाबला जीत चुकी हैं। बंगाल वॉरियर्स ने यूपी योद्धा को हराया और गुजरात ने जयपुर पिंक पैंथर्स को मात दी।

बंगाल वॉरियर्स की अगर बात करें तो पहले मुकाबले में उनके लिए ईरान के ऑलराउंडर मोहम्मद नबीबख्श ने बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए 11 प्वॉइंट हासिल किए थे। वहीं कप्तान मनिंदर ने सात प्वॉइंट लिए थे। हालांकि गुजरात जायंट्स का डिफेंस यूपी योद्धा के मुकाबले काफी ज्यादा बेहतरीन है और इसी वजह से इस बार बंगाल के लिए चीजें आसान नहीं होंगी। गुजरात के डिफेंस को भेदने के लिए मनिंदर को और अच्छा प्रदर्शन करना होगा। सुकेश हेगड़े के ऊपर भी निगाहें होंगी जिन्होंने पहले मुकाबले में 8 प्वॉइंट लिए थे। मनिंदर, सुकेश और मोहम्मद नबीबख्श टीम के सबसे तीन अहम प्लेयर होंगे।

गुजरात जायंट्स के कोच मनप्रीत सिंह हमेशा अपनी टीम के डिफेंस पर जोर देते हैं और पहला मैच उन्होंने इसकी बदौलत ही जीता। पुनेरी पलटन से गुजरात में आए गिरीश एर्नाक ने हाई फाइव लगाते हुए कुल 7 प्वॉइंट हासिल किए और प्रवेश भैंसवाल ने भी 4 टैकल प्वॉइंट हासिल किए। हालांकि टीम का रेडिंग डिपार्टमेंट उतना मजबूत नहीं दिखाई दे रहा है और बंगाल वॉरियर्स उनकी इस कमी का फायदा उठाना चाहेगी। गुजरात की टीम अपनी रेडिंग मजबूत करने के लिए प्रदीप कुमार की जगह महेंद्र राजपूत को प्लेइंग सेवन में शामिल कर सकती है। उनके पास काफी अनुभव है और वो टीम के लिए फायदेमंद साबित हो सकते हैं।

दोनों टीमों की संभावित स्टार्टिंग 7

बंगाल वॉरियर्स – मनिंदर सिंह (कप्तान), दर्शन जे, प्रवीण सतपाल, मोहम्मद नबीबख्श, सुकेश हेगड़े, अबोजार मिघानी और रिंकू नरवाल।

गुजरात जायंट्स – राकेश नरवाल, सुनील कुमार (कप्तान), प्रवेश भैंसवाल, महेंद्र राजपूत, राकेश, रविंदर पहल और गिरीश एर्नाक।