पहले फेज में शानदार प्रदर्शन करने वाले कुछ खिलाड़ी दूसरे फेज में भी चमकते नजर आए।

प्रो कबड्डी लीग अपने आठवें सीजन के पहले हाफ केअंतिम चरण में है जिससे मुकाबले रोमांचक और अहम होते जा रहें हैं। पिछले सप्ताह कुछ टीमों और उनके खिलाड़ियों द्वारा कुछ अविश्वसनीय प्रदर्शन देखा गया। इस सीजन खेल नाओ भारत की प्रमुख कबड्डी लीग के लिए पावर रैंकिंग तैयार किया है।

कोविड-19 महामारी के कारण लंबे अंतराल के बाद लीग का आयोजन किया गया। अंतराल के बावजूद कबड्डी खिलाड़ियों और उनके प्रदर्शन में गिरावट नहीं आई है। रेडर हों या डिफेंडर, खिलाड़ी अविश्वसनीय प्रदर्शन कर रहे हैं। पावर रैंकिंग के पहले फेज में रेडर्स ने अपने प्रदर्शन के कारण शीर्ष 10 स्थानों पर दबदबा बनाया रखा। उन खिलाड़ियों में से कई ने दूसरे फेज में भी शानदार प्रदर्शन जारी रखा और काफी पॉइंट्स हासिल किए। आइए एक नजर डालते हैं कि फेज 2 के बाद कौन से खिलाड़ी पावर रैंकिंग में टॉप पर हैं।

नोट: दूसरा फेज 31 दिसंबर 2021 को शुरू हुआ और 09 जनवरी 2022 को समाप्त हुआ।

10. विकास कंडोला (हरियाणा स्टीलर्स) – 13 पॉइंट्स

विकास कंडोला हरियाणा स्टीलर्स का एक अहम हिस्सा हैं। वह मौजूदा संस्करण में टीम का नेतृत्व कर रहे हैं। इस रेडर ने गुजरात जायंट्स के खिलाफ मिली 38-36 की जीत में 10 पॉइंट्स बनाए और टीम के लिए लगातार अच्छा प्रदर्शन किया। वह इस समय पावर रैंकिंग में 13 पॉइंट्स के साथ 10वें स्थान पर है। कंडोला ने दूसरे चरण में सात पॉइंट्स बटोरे।

9. मोनू गोयत (पटना पाइरेट्स) – 14 पॉइंट्स

प्रो कबड्डी लीग के मौजूदा सीजन में मोनू गोयत अच्छी फॉर्म में हैं। पटना पाइरेट्स के रेडर के 14 पॉइंट्स हैं और वह नौवें स्थान पर है। उन्होंने मैट पर प्रभावशाली प्रदर्शन के बाद हमारी रैंकिंग के दूसरे चरण में प्रभावशाली नौ पॉइंट्स अर्जित किए। मोनू ने गत चैंपियन बंगाल वारियर्स पर 44-30 से जीत में 15 पॉइंट्स बनाए।

8. परदीप नरवाल (यूपी योद्धा) – 15 पॉइंट्स

प्रो कबड्डी लीग के सबसे प्रतिष्ठित खिलाड़ियों में से एक परदीप नरवाल इस सीजन में लय के लिए संघर्ष कर रहें है, लेकिन पिछले एक सप्ताह में उनके प्रदर्शन ने कुछ गति पकड़ी है। उनके पास इस समय 15 पावर रैंकिंग पॉइंट्स हैं और वह आने वाले मैचों में और अधिक हासिल करने की कोशिश करेंगे।

7. मंजीत (तमिल थलाइवाज) – 15 पॉइंट्स

पावर रैंकिंग में तमिल थलाइवाज के मंजीत के भी 15 पॉइंट्स हैं। दूसरे चरण में उन्होंने सात पॉइंट्स बटोरे। इस रेडर ने हाल ही में हरियाणा स्टीलर्स के खिलाफ प्रदर्शन में 10 पॉइंट्स बनाए। उनकी अच्छी रेडिंग के कारण पूरे सीजन में उनके कुल 59 पॉइंट्स हैं।

6. राकेश नरवाल (गुजरात जायंट्स) – 16 पॉइंट्स

पॉवर रैंकिंग के पहले फेज में राकेश नरवाल सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वालों में से एक थे। हालांकि, दूसरे चरण में उनका प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा। जैसा कि होता है, वह पावर रैंकिंग नियम में कोई पॉइंट एकत्र नहीं करने के बाद भी 16 पॉइंट्स के साथ छठे स्थान पर हैं। उन्होंने दूसरे फेज के दौरान हुए तीन मैचों में केवल 11 पॉइंट्स हासिल किए थे।

5. अजित कुमार (यू मुंबा) – 20 पॉइंट्स

अजीत कुमार यू मुंबा टीम के एक महत्वपूर्ण हिस्सा हैं और अभिषेक सिंह के साथ रेडिंग का नेतृत्व करते हैं। यू मुंबा ने दूसरे फेज के एक मैच में जीत हासिल की और दो मुकाबलों में बराबरी की और अजित ने हर मैच में अच्छा प्रदर्शन किया। पावर रैंकिंग सिस्टम में उसके 20 पॉइंट्स हैं और वह पांचवें स्थान पर हैं।

4. पवन सेहरावत (बेंगलुरु बुल्स) – 24 पॉइंट्स

बेंगलुरू बुल्स के कप्तान पवन सहरावत रैंकिंग में चौथा स्थान हासिल करने वाले खिलाड़ी हैं। पावर रैंकिंग सिस्टम में उनके 24 पॉइंट्स हैं, जिससे वह चौथे स्थान पर है। इस स्टार रेडर ने बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए जयपुर पिंक पैंथर्स के खिलाफ 17 अंक बनाए। उन्होंने प्रो कबड्डी लीग में पुनेरी पलटन के खिलाफ सुपर-10 लगाया।

3. मनिंदर सिंह (बंगाल वारियर्स) – 25 पॉइंट्स

डिफेंडिंग चैंपियन बंगाल वारियर्स का नेतृत्व मनिंदर सिंह कर रहे हैं। मनिंदर सिंह एक शानदार रेडर हैं और उन्होंने फेज 2 के दौरान प्रो कबड्डी लीग में लगातार पांच सुपर-10 लगाए। वह मौजूदा सत्र में सर्वाधिक पॉइंट्स प्राप्त करने वालों में से एक है और पावर रैंकिंग में 25 पॉइंट्स के साथ तीसरे स्थान पर है।

2. अर्जुन देशवाल (जयपुर पिंक पैंथर्स) – 33 पॉइंट्स

अर्जुन देशवाल पहले स्थान के लिए कड़ी टक्कर दे रहे हैं और अभी पावर रैंकिंग में 33 पॉइंट्स के साथ दूसरे स्थान पर हैं। यह रेडर अच्छी फॉर्म में है और अपनी गति के कारण काफी पॉइंट हासिल करता है। उन्होंने पुनेरी पलटन और बेंगलुरु बुल्स दोनों के खिलाफ महत्वपूर्ण सुपर-10 लगाए।

1. नवीन कुमार (दबाग दिल्ली) – 35 पॉइंट्स

फॉर्म में चल रहे नवीन कुमार 35 पॉइंट्स के साथ पावर रैंकिंग में सबसे आगे हैं। उन्होंने फेज 2 में अपने तीन मैचों में सुपर-10 बनाए और एक अविश्वसनीय प्रदर्शन किया। तेलुगू टाइटंस के खिलाफ उनका 25 पॉइंट्स का खेल एक शानदार प्रदर्शन और प्रमुख आकर्षण था।