दूसरे मुकाबले में गुजरात जायंट्स का सामना तेलुगु टाइटंस से होगा।

प्रो कबड्डी लीग में 11 जनवरी को पहला मुकाबला लगातार जीत हासिल करती आ रही पटना पाइरेट्स और बेहतरीन फॉर्म में चल रही यू-मुम्बा के बीच होगा। वहीं दूसरा मैच तेलुगु टाइटंस और गुजरात जायंट्स के बीच खेला जाएगा जिनके लिए ये सीजन अभी तक अच्छा नहीं रहा है। यही वजह है कि हमें दो बेहतरीन मुकाबले देखने को मिल सकते हैं।

पाइरेट्स प्रो कबड्डी लीग 8 में सात मैचों में पांच जीत के साथ दूसरे पायदान पर है। उन्होंने अपने पिछले पांच में से चार मुकाबले जीते हैं। वहीं यू-मुम्बा की टीम भी चौथे पायदान पर है। जबकि तेलुगु टाइटंस को अभी तक एक भी मुकाबले में जीत नहीं मिली है और वो सबसे आखिरी पायदान पर हैं और गुजरात जायंट्स की टीम सिर्फ एक जीत के साथ नौवे पायदान पर है।

पटना पाइरेट्स Vs यू-मुम्बा

पटना पाइरेट्स की टीम इस सीजन लगातार बेहतरीन प्रदर्शन करती हुई आ रही है। पिछले मुकाबले में गुजरात जायंट्स ने उन्हें टक्कर जरूर दी थी लेकिन इसके बावजूद वो एक प्वॉइंट से जीतने में कामयाब रहे थे। मोनू गोयत एक बार फिर फ्लॉप रहे लेकिन सचिन और प्रशांत कुमार राय ने उनके खराब फॉर्म की कमी बिल्कुल भी नहीं खलने दी और पटना के लिए सबसे अच्छी चीज ये है कि उनका डिफेंस इस सीजन काफी जबरदस्त खेल रहा है। मोहम्मदरेजा के रूप में टीम को एक नया स्टार मिल गया है। साजिन सी भी अपना पहला हाई फाइव लगाने के बाद और कॉन्फिडेंस में आ गए होंगे। कुल मिलाकर पटना को रोकना यू-मुम्बा के लिए आसान नहीं रहने वाला है।

यू-मुम्बा की अगर बात करें तो उनके कप्तान फजल अत्राचली फॉर्म में आ गए हैं और मेन रेडर अभिषेक सिंह ने भी वापसी कर ली है। वहीं रिंकू ने भी पिछले मैच में जबरदस्त प्रदर्शन किया था। यू-मुम्बा के लिए हर एक खिलाड़ी बेहतरीन प्रदर्शन कर रहा है और यही वजह है कि प्वॉइंट्स टेबल में इस वक्त वो टॉप 5 में हैं। यू-मुम्बा के प्लेइंग सेवन में बदलाव की गुंजाइश काफी कम ही है।

दोनों टीमों की संभावित स्टार्टिंग 7

पटना पाइरेट्स – मोनू गोयत, नीरज कुमार, साजिन सी, प्रशांत कुमार, सचिन, सुनील और मोहम्मदरेजा।

यू-मुम्बा – अभिषेक सिंह, आशीष सांगवान, हरेंद्र कुमार, मोहसेन मोगसूदुलू, वी अजीत, रिंकू और फजल अत्राचली।

तेलुगु टाइटंस Vs गुजरात जायंट्स

तेलुगु टाइटंस के लिए ये सीजन अभी तक काफी खराब रहा है और उन्हें एक भी मुकाबले में जीत नहीं मिली है। सिद्धार्थ देसाई के इंजरी की वजह से टीम को तगड़ा झटका लगा है और उनकी भरपाई करना टीम के लिए काफी मुश्किल हो रहा है। रोहित कुमार भी अंदर-बाहर होते रहे हैं और इसी वजह से टीम पूरी तरह से बिखरी-बिखरी नजर आ रही है। युवा खिलाड़ी अच्छा प्रदर्शन तो कर रहे हैं लेकिन टीम को मैच नहीं जिता पा रहे हैं। टीम को अनुभवी खिलाड़ियों की कमी साफतौर पर खल रही है।

गुजरात जायंट्स की टीम इस सीजन अपने डिफेंस के दम पर टूर्नामेंट में उतरी है लेकिन डिफेंस से इस बार काफी गलतियां हुई हैं और उसका खामियाजा उन्हें भुगतना पड़ा है। वहीं टीम में जो रेडर्स हैं वो भी उस तरह का प्रदर्शन नहीं कर रहे हैं जिससे टीम को जीत हासिल हो। गुजरात को अगर जीत हासिल करनी है तो फिर रेडर्स को भी उस तरह का प्रदर्शन करना होगा। पिछले मैच में हाई फाइव लगाने वाले सब्सीट्यूट खिलाड़ी मुहम्मद सिहास को इस बार स्टार्टिंग प्लेइंग सेवन में शामिल किया जा सकता है। वहीं राजू गुल्ला को भी प्लेइंग सेवन में जगह मिल सकती है।

दोनों टीमों की संभावित स्टार्टिंग 7

तेलुगु टाइटंस – राजू गुल्ला, राकेश गौड़ा, अंकित बेनीवाल, मुहम्मद सिहास, प्रिंस डी, ऋतुराज कोरावी और आदर्श टी।

गुजरात जायंट्स – राकेश नरवाल, सुनील कुमार, प्रवेश भैंसवाल, महेंद्र राजपूत, राकेश, अंकित और गिरीश मारूति।