इन खिलाड़ियों ने अबतक लीग में दमदार प्रदर्शन किया है।

कबड्डी एक टीम गेम है, लेकिन मैच के नतीजों पर खिलाड़ी के निजी प्रदर्शन का सीधा असर पड़ता है। प्रो कबड्डी लीग के मौजूदा सीजन में भी कई टीमें अपने-अपने स्टार खिलाड़ियों पर भरोसा करते हुए मैट पर उतरी हैं। खेल नाओ का पावर रैंकिंग सिस्टम इस बार भी प्रो कबड्डी लीग के साथ जुड़ा हुआ है। अब तक पावर रैंकिंग के दो फेज बीत चुके हैं, जिनमें खिलाड़ियों के बीच कांटे की टक्कर देखी गई है।

हाल ही में तीसरा फेज भी खत्म हुआ है और कई खिलाड़ियों ने बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए कई सारे पॉइंट्स बटोरे हैं। पावर रैंकिंग के हिसाब से मिलने वाले पॉइंट्स पर आधारित ये हैं टॉप-10 खिलाड़ी।

10. विजय मलिक (दबंग दिल्ली)- 18

पिछले कुछ दिनों में विजय मलिक, दबंग दिल्ली के मजबूत खिलाड़ी बनकर उभरे हैं। टीम के स्टार खिलाड़ी नवीन कुमार फिलहाल चोटिल हैं, ऐसे में विजय कुमार ने उनकी जगह लेते हुए टीम को मजबूती दी है। उन्होंने 18 पॉइंट हासिल करते हुए पावर रैंकिंग में 10 नंबर पर जगह बना ली है।

9. सुरेंद्र गिल (यूपी योद्धा)- 21

इस साल प्रो कबड्डी लीग में सुरेंद्र गिल का प्रदर्शन यूपी योद्धा के लिए लगातार अच्छा रहा है। उन्होंने पुनेरी पलटन के खिलाफ एक मैच में अपनी टीम के लिए 21 पॉइंट्स हासिल किए थे, नतीजतन उनकी टीम को एक बेहतरीन जीत तोहफे में मिली। इसी के साथ गिल ने पावर रैंकिंग में भी एंट्री कर ली है और 21 पॉइंट्स के साथ वो इस लिस्ट में प्रदीप नरवाल की बराबरी पर हैं।

8. प्रदीप नरवाल (यूपी योद्धा)- 21

प्रो कबड्डी लीग के जाने-माने चेहरे प्रदीप नरवाल अब तक इस सीजन में जूझते नजर आए हैं, लेकिन अभी भी वो यूपी योद्धा के सबसे दमदार खिलाड़ियों में से एक हैं। पावर रैंकिंग में भी वो 21 पॉइंट्स के साथ आठवें पायदान पर बने हुए हैं। इसका कारण है तेलुगु टाइटंस और पुनेरी पलटन के खिलाफ उनके दो सुपर -10 परफॉर्मेंस।

7. अजीत कुमार (यू-मुंबा)- 25

इस सीजन में अजीत कुमार सबसे दमदार और तेज रेडर्स में से एक हैं। एक मजबूत डिफेंसिव टीम मानी जाने वाली यू मुंबा के लिए पॉइंट्स लाने की जिम्मेदारी अजीत के कंधों पर ही होती है। वो इस जिम्मेदारी को बखूबी निभाते भी रहे हैं और गुजरात जाइंट्स के खिलाफ उनका शानदार प्रदर्शन इसकी बानगी था।

6. विकास कंडोला (हरियाणा स्टीलर्स)- 26

हरियाणा स्टीलर्स भी प्रो कबड्डी लीग की एक ऐसी टीम है, जो जीत के लिए अपने मजबूत डिफेंस पर निर्भर रहती है। हालांकि उनके पास एक बेहतरीन रेडर भी है- विकास कंडोला। जो टीम का एक ऐसा खिलाड़ी है, जिसने अपने बेहतरीन प्रदर्शन को लगातार जारी रखा है। ऐसा ही एक उदाहरण उन्होंने यूपी योद्धा के खिलाफ दिया, जब उनकी टीम ने कुल 36 पॉइंट्स हासिल किए थे, जिसमें से 17 तो विकास ही लेकर आए।

5. मंजीत (तमिल थलाइवास)- 33

मंजीत भले ही सबसे मजबूत और तेज खिलाड़ी न हों, लेकिन वो फिर भी अपनी टीम के लिए पॉइंट्स हासिल करने में लगातार कामयाब रहते हैं। तमिल थलाइवास का ये रेडर अपनी टीम के सबसे बेहतरीन परफॉर्मर्स में से एक रहा है। मंजीत ने पावर रैंकिग पॉइंट्स सिस्टम के अनुसार 33 पॉइंट्स हासिल किए हैं।

4. मनिंदर सिंह (बंगाल वॉरियर्स)- 38

मनिंदर सिंह ने पावर रैंकिंग के टॉप-4 में जगह बना ली है, जो कि बड़ी उपलब्धि इसलिए भी है, क्योंकि यहां मुकाबला और टक्कर का होता चला जाता है। बंगाल वॉरियर्स के कप्तान मनिंदर को पावर रैंकिंग में 38 पॉइंट्स मिले हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि वो इस लीग के सबसे बेहतरीन रेडर्स में से एक हैं। उन्होंने हाल ही में यू-मुंबा के खिलाफ बेहतरीन मुकाबले में अकेले ही 17 पॉइंट्स अपनी टीम के लिए हासिल किए थे।

3. नवीन कुमार (दबंग दिल्ली)- 38

फेज-3 में नवीन कुमार का प्रदर्शन कुछ खास नहीं रहा। पिछले कुछ मुकाबलों में वह चोटिल रहे और ज्यादा पॉइंट हासिल नहीं किए। फिर भी दबंग दिल्ली के इस स्टार खिलाड़ी की झोली में 38 पॉइंट्स हैं और वो रैंकिंग में अभी भी तीसरे पायदान पर है।

2. पवन शेहरावत (बेंगलुरु बुल्स)-39

‘हाई-फ्लायर’ के नाम से मशहूर पवन शेहरावत 39 पॉइंट्स के साथ इस लिस्ट में दूसरे पायदान पर हैं। बेंगलुरु बुल्स के कप्तान ने अपनी टीम के प्रदर्शन में निर्णायक रोल अदा किया है। गुजरात के खिलाफ खेले गए मुकाबले में उन्होंने 19 पॉइंट्स हासिल किए थे।

1. अर्जुन देशवाल (जयपुर पिंक पैंथर्स)- 44

तीसरे फेज के बाद जयपुर पिंक पैंथर्स के अर्जुन देशवाल खेल नाओ पावर रैंकिंग में टॉप पर हैं। लगातार बेहतरीन प्रदर्शन करने के चलते उनको 44 पॉइंट्स मिले हैं। वो चोटिल होने से बचते हुए अपनी टीम के लिए काफी सफल साबित हुए हैं। प्रो कबड्डी लीग के आठवे सीजन में देशवाल अब तक 8 सुपर 10 अपने नाम दर्ज कर चुके हैं। सुपर रेड के मामले में उनसे आगे बस मनिंदर सिंह और पवन कुमार शेहरावत ही हैं।