फॉरवर्ड खिलाड़ी ने भूटान की टीम के खिलाफ हुए पिछले मैच में दमदार प्रदर्शन किया।

इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) की डिफेंडिंग चैम्पियन बेंगलुरू एफसी ने बुधवार को अपने होम ग्राउंड पर खेले गए एएफसी कप के मैच में पारो एफसी को 9-1 से करारी शिकस्त दी। इस मैच में सबसे दमदार प्रदर्शन सेम्बोई हाओकिप ने किया और कुल चार गोल किए।

इसी के साथ सेम्बोई हाओकिप ने एक अनोखा रिकॉर्ड अपने नाम किया। वह आईएसएल, आई-लीग और एएफसी कप में हैट्रिक जड़ने वाले पहले ​इंडियन फुटबॉल प्लेयर बन गए हैं। मैच के छठे मिनट में उन्होंने ने पहला गोल किया, इसके बाद उन्होंने पीछे मुड़कर नहीं देखा और टीम को बड़ी जीत दिलाई।

सेम्बोई हाओकिप के अलावा मैच में जुआनन, डेशहोर्न ब्राउन और निली ने गोल दागे। जुआनन और निली ने जहां केवल एक-एक गोल किया तो वहीं ब्राउन ने शानदार हैट्रिक लगाई। उन्होंने 29वें, 54वें और 64वें मिनट में गोल दागे थे। बेंगलुरू एफसी ने इसी ट्रांसफर विंडो में ब्राउन को अपनी टीम में शामिल किया था।

हाओकिप ने अपनी सबसे पहली हैट्रिक आई-लीग के 2014-15 सीजन में दागी थी। उन्होंने पुणे एफसी के लिए खेलते हुए शिलॉन्ग लाजोंग के खिलाफ तीन गोल किए थे।

इसके बाद, उन्हें लोन पर आईएसएल में खेलने वाली टीम एफसी गोवा में भेजा गया। उन्होंने लीग में  17 नवंबर 2015 को मुंबई सिटी एफसी के खिलाफ हैट्रिक लगाई और इस मैच को उनकी टीम ने 7-0 के बड़े अंतर से अपने नाम किया।

हाओकिप उस समय आईएएसएल में हैट्रिक लगाने वाले दूसरे इंडियन ​प्लेयर बन गए थे। ऐसा करने वाले पहले इंडियन प्लेयर कैप्टन फैनटास्टिक सुनील छेत्री थे जिन्होंने उसी सीजन यह रिकॉर्ड बनाया था। हालांकि, हाओकिप ने अपने रिकॉर्ड को आगे बढ़ाया और अब उन्होंने तीन बड़ी प्र​तियोगिताओं में हैट्रिक लगा दी है।

इस हैट्रिक के बाद उन्होंने राहत की सांस ली होगी क्योंकि इस सीजन वह खराब फॉर्म में चल रहे थे। वह पिछले 12 आईएसएल मैच में वह केवल एक ही गोल कर पाए थे।

बेंगलुरू और पारो एफसी के बीच यह दूसरे लेग का मुकाबला था। पहला लेग भूटान स्थित क्लब के घर में खेला गया था जिसमे इंडियन क्लब ने 1-0 के बेहद करीबी अंतर से जीत दर्ज की थी।