इन डिफेंडर्स ने पहले सीजन में सबसे ज्यादा प्वॉइंट हासिल किए थे।

कबड्डी के खेल में डिफेंस की काफी अहम भुमिका होती है। अगर टीम का डिफेंस अच्छा है तभी वो किसी टूर्नामेंट को जीत सकते हैं। रेडर्स चाहे जितने प्वॉइंट लेकर आएं लेकिन अगर डिफेंस ने साथ नहीं दिया तो फिर उस टीम को जीत हासिल करना काफी मुश्किल हो जाता है। प्रो कबड्डी लीग (पीकेएल) के इतिहास में अभी तक कई दिग्गज डिफेंडर हुए हैं। पहले सीजन से लेकर अभी तक कई सारे डिफेंडर्स का बोलबाला रहा है। इन खिलाड़ियों ने अपने बेहतरीन मूव्स और स्किल के लिए जरिए एक अलग छाप छोड़ी है।

पीकेएल के पहले सीजन की अगर बात करें तो डिफेंस में कई खिलाड़ियों से बेहतरीन योगदान देखने को मिला था। इन प्लेयर्स ने दमदार प्रदर्शन करके अपनी टीमों को जीत दिलाई थी। हम आपको इस आर्टिकल में उन पांच डिफेंडर्स के बारे में बताएंगे जिन्होंने पीकेएल के पहले सीजन में सबसे ज्यादा टैकल प्वॉइंट हासिल किए थे।

5.रोहित राणा

दिग्गज ऑलराउंडर खिलाड़ी रोहित राणा पीकेएल के स्टार प्लेयर्स में से एक हैं। वो उन खिलाड़ियों में से हैं जिनका प्रो कबड्डी लीग को सफल बनाने में अहम योगदान रहा है। पहले सीजन में वो जयपुर पिंक पैंथर्स की टीम का हिस्सा थे और उनके लिए 15 मैचों में 38 टैकल प्वॉइंट हासिल किए थे। इस दौरान तीन हाई-फाइव भी उन्होंने लगाए थे। आखिरी बार उन्होंने पीकेएल में छठे सीजन में खेला था और तब वो यू-मुम्बा की टीम में थे। लेफ्ट कॉर्नर के तौर पर खेलने वाले रोहित राणा लीग के कामयाब डिफेंडर्स में से एक हैं।

4.जसमेर सिंह गूलिया

जसमेर सिंह गूलिया 2010 के एशियन गेम्स में गोल्ड मेडल जीतने वाली भारतीय टीम का भी हिस्सा रह चुके हैं। पीकेएल के पहले सीजन में वो दबंग दिल्ली की टीम के कप्तान थे और उनके लिए कुल 14 मुकाबलों में खेले थे। इस दौरान उन्होंने 38 टैकल प्वॉइंट हासिल किए थे। उन्होंने दो सुपर टैकल भी पहले सीजन में किए थे। तीसरा सीजन उन्होंने पुनेरी पलटन के लिए खेला था। 2018 में उन्होंने कबड्डी से संन्यास ले लिया था।

3.धर्मराज चेरालाथन

पीकेएल के पहले सीजन में अनुभवी डिफेंडर धर्मराज चेरालाथन बेंगलुरू बुल्स टीम का हिस्सा थे। पहले सीजन में उन्होंने 16 मैचों में 39 टैकल प्वॉइंट हासिल किए थे और सबसे ज्यादा टैकल प्वॉइंट हासिल करने के मामले में तीसरे पायदान पर थे। धर्मराज चेरालाथन की उम्र 47 साल हो चुकी है और इसके बावजूद वो अभी भी पीकेएल में हिस्सा ले रहे हैं। अभी तक 123 मैचों में वो 304 टैकल प्वॉइंट हासिल कर चुके हैं। बीते सीजन वो जयपुर पिंक पैंथर्स टीम का हिस्सा थे। देखने वाली बात होगी कि अगले पीकेएल सीजन में वो हिस्सा लेते हैं या नहीं।

2.सुरेंदर नाडा

सुरेंदर नाडा पीकेएल के पहले सीजन में यू-मुम्बा की टीम का हिस्सा थे और उनके लिए 15 मैचों में पांच हाई-फाइव लगाए थे। वो लीग के उद्घाटन संस्करण में सबसे ज्यादा हाई-फाइव लगाने वाले डिफेंडर थे। इसके अलावा सुरेंदर नाडा ने पहले सीजन में 15 मैचों में 51 टैकल प्वॉइंट हासिल किए थे। वो सीजन में दूसरे सबसे ज्यादा टैकल प्वॉइंट हासिल करने वाले डिफेंडर थे। सुरेंदर नाडा ने पीकेएल के 8वें सीजन से एक बार फिर वापसी की है और उनके अंदर वही जोश और जज्बा देखने को मिल रहा है।

1.मंजीत छिल्लर

मंजीत छिल्लर पीकेएल के पहले सीजन में सबसे ज्यादा टैकल प्वॉइंट हासिल करने वाले प्लेयर थे। बेंगलुरू बुल्स की तरफ से खेलते हुए उन्होंने 16 मैचों में 51 प्वॉइंट हासिल किए थे। मंजीत एकमात्र ऐसे डिफेंडर हैं, जिनके नाम टूर्नामेंट में 375 से ज्यादा टैकल प्वॉइंट हैं। उन्होंने अभी तक 132 मैचों में 391 टैकल प्वॉइंट हासिल किए हैं और पीकेएल इतिहास में सबसे ज्यादा टैकल प्वॉइंट हासिल करने का रिकॉर्ड मंजीत छिल्लर के ही नाम है।

For more updates, follow Khel Now on TwitterInstagram and Facebook.